कई बार हमें अचानक से पैसों की जरूरत आ पड़ती है। बैंक खाते में फंड नहीं होता और अचानक से खर्च का बोझ आ जाता है। ऐसे में हम लोन लेने के बारे में सोचते हैं,

लेकिन आज हम आपको बैंकिंग सर्विस की एक ऐसी फैसिलिटी के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसकी मदद से आप बैंक खाते में पैसा नहीं होने के बावजूद फंड निकाल सकते हैं।

हम आपको बैंक की ओवरड्राफ्ट फैसिलिटी के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसकी मदद से आप इमरजेंसी की स्थिति में अपने लिए फंड का इंतजाम कर सकते हैं।

बैंकों की ओवरड्राफ्ट फैसिलिटी भी एक तरह का लोन ही है, जो छोटी अवधि के लिए होता है। ये प्रतिदिन के हिसाब का कर्ज है। सभी प्राइवेट और सरकारी बैंक अपने ग्राहकों को ओवरड्राफ्ट फैसिलिटी देती है।

आप इमरजेंसी की स्थिति में इस फैसिलिटी का इस्तेमाल कर अपने लिए फंड का इंतजाम कर सकते हैं। अधिकांश बैंक फिक्स्ड डिपॉजिट, सैलरी अकाउंट, करंट अकाउंट पर ओवरड्राफ्ट की सुविधा देती है।

यहां आपको ये जानना जरूरी है कि इस सुविधा का लाभ उठाने के लिए आपको बैंक के पास कुछ न कुछ गारंटी के तौर पर रखना होगा।

आप अपनी एफडी, शेयर बॉन्ड जैसी कुछ भी चीज को बैंक के पास गारंटी के तौर पर रख सकते हैं। आपको बता दें कि आप जो भी रकम ओवरड्राफ्ट के तहत जो भी रकम लेंगे, आपको उसका ब्याज प्रतिदिन के हिसाब से देना होगा।

इतना ही नहीं आपको पैसे भी एकमुश्त ही लौटेने होंगे। आपको बता दें कि ओवरड्राफ्ट फैसिलिटी दो तरह की होती है। सिक्योर्ड और अन-सिक्योर्ड।

ओवरड्राफ्ट फैसिलिटी आपके सेविंग या करंट अकाउंट्स से लिंक होता है। जब भी आप अपने बैंक खाते से इस सुविधा के तहत ओवर विड्रॉल यानी खाते में जमा से अधिक धनराशि निकालते हैं

तो आपके खाते में ओडी खाते से अतिरिक्त रकम निकाल ट्रांसफर कर दिया जाता है। जब आप इसकी रीपेमेंट करते हैं तो पहले ही वो ओवरड्राफ्ट खाते में ट्रांसफर कर दिया जाता है।

ओवरड्राफ्ट बैंकिंग सेक्टर की खास सुविधा है। इस सुविधा के तहत खाताधारकों को पैसे निकालने की सुविधा उस वक्त भी मिलती जब आपके खाते में पैसे नहीं हो।

हर ग्राहकों के लिए ओवरड्राफ्ट की सीमा अलग-अलग होती है। इसके अलावा बैंक और ग्राहक के लिए रिलेशनशिप पर ओवरड्राफ्ट की लिमिट तय होती है।

जो रकम आप बैंक से इस स्कीम के तहत लेते हैं उन पैसों पर ब्याज लेना होता है, जो दैनिक रूप से कैलकुलेट होती है। ओवरड्राफ्ट लोन सुविधा पर ब्याज दर हर आवेदकों के लिए अलग अलग होती हैं,