जब दुनिया भर के बाजार में इस समय अनिश्चितता का माहौल बना हुआ है ऐसे दौर में फिक्सड डिपाॅजिट निवेश के लिहाज से एक बेहतर विकल्प हो सकता है। कई ऐसे बैंक हैं जो 1 साल की एफडी पर 6% ब्याज दे रहे हैं।

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) के द्वारा जून में रेपो-रेट की दरों में इजाफा किया गया था। जिसके बाद से ही फिक्सड डिपाॅजिट की दरों में में बैंक लगातार इजाफा कर रहे हैं।

फिक्सड डिपाॅजिट एक सुरक्षित निवेश है। साथ ही यहां रिटर्न की गारंटी भी रहती है। दुनिया भर के बाजार में इस समय अनिश्चितता का माहौल बना हुआ है ऐसे दौर में फिक्सड डिपाॅजिट एक बेहतर विकल्प हो सकता है।

4 जुलाई 2022 को बंधन बैंक की तरफ से एफडी की दरों में बदलाव किया गया था। बैंक की तरफ से एक साल से की एफडी पर सामन्य नागरिकों को 6.25% और सीनियर सिटीजन को 7% ब्याज दिया जा रहा है।

DCB Bank 7 दिन से 120 महीने तक की एफडी पर बैंक 4.80% से 6.60% तक ब्याज सामान्य नागरिकों को मिल रहा है। वहीं, वरिष्ठ नागरिकों को 5.30% से 7.10% ब्याज मिल रहा है।

IDFC First Bank  एक साल एक दिन की एफडी पर सामान्य नागरिकों को 6.25% और वरिष्ठ नागरिकों 6.75% ब्याज दे रहा है।  5 साल तक की एफडी पर 6.50% और वरिष्ठ नागरिकों 7 प्रतिशत ब्याज दिया जा रहा है।

इंडसंइड बैंक एक साल की एफडी पर सामान्य नागरिकों को 6.25% ब्याज और वरिष्ठ नागरिकों 6.75% ब्याज दिया जा रहा है

यस बैंक की तरफ से एक साल की एफडी पर सामान्य नागरिकों 6% और वरिष्ठ नागरिकों 6.50% ब्याज दिया जा रहा है। बैंक ने आखिरी बार एफडी की दरों में बदलाव 18 जून 2022 को किया था।