Aadhaar Authentication History कैसे चेक करें

Aadhaar Authentication History क्या है? आधार ऑथेंटिकेशन हिस्ट्री कैसे चेक करें?

आधार, भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण द्वारा जारी किया गया राष्ट्रीय पहचान प्रमाण है। आज के दौर में आधार सबकी जरूरत बन गया है। आज लगभग सभी व्यक्ति के पास अपना आधार कार्ड है। तो आज के पोस्ट में जानेंगे Aadhaar Authentication History कैसे चेक करें?

न्यू सिम कार्ड लेने हो, पेमेंट करना हो, गैस कनेक्शन, बैंक अकाउंट जैसी सर्विसेज लेने या इस्तेमाल करने के लिए आप इसका यूज आपकी पहचान वेरिफाई करने के लिए करते हैं।

Aadhaar Authentication क्या है?

Aadhaar Authentication एक ऐसी प्रक्रिया है जिसके द्वारा आधार कार्डधारक के डेमोग्राफिक और बायोमेट्रिक आंकड़ों के साथ आधार संख्या को उनके ऑथेंटिकेशन के लिए Central Identity Data Repository or CIDR में प्रदान किया जाता है।

ये बायोमेट्रिक और डेमोग्राफिक्स यूआईडीएआई डेटाबेस में सुरक्षित रूप से संग्रहीत हैं और यह repository डेटा की सटीकता को मान्य करता है।

कई सेवा प्रदाताओं जैसे सरकारी सब्सिडी, दूरसंचार विभाग, आदि के लिए लोगों को अपनी पहचान का प्रमाण प्रस्तुत करने की आवश्यकता होती हैजो उन्हें विभिन्न ग्राहक सेवाएं, अनुदान या लाभ प्रदान करने में सक्षम बनाएगा।

पहचान के ऐसे प्रमाणों को एकत्रित करते समय, आधार पंजीकरण के समय आधार नामांकन केंद्र में व्यक्तियों द्वारा प्रस्तुत किए गए पहचान दस्तावेजों या साक्ष्य की सटीकता को प्रमाणित करने या प्रमाणित करने के मामले में सेवा प्रदाताओं को कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

आधार प्रमाणीकरण का उद्देश्य आधार कार्ड धारक की पहचान को किसी भी समय, कहीं भी शीघ्रता से सत्यापित करने के लिए एक ऑनलाइन पहचान मंच प्रदान करना है।

UIDAI Aadhaar-based authentication को एक सुविधा के रूप में प्रदान करता है जिसका अनुरोध करने वाले संस्थान लाभ उठा सकते हैं। यह कोई भी सरकारी संगठन या लिमिटेड कंपनी या शायद कोई निजी संस्था या एजेंसी हो सकती है।

यूआईडीएआई द्वारा प्रदान की गई इस विशेष सेवा का उपयोग उनके कर्मचारियों या ग्राहकों या किसी अन्य परिचित की पहचान को उनकी व्यक्तिगत पहचान की जानकारी के मिलान के आधार पर, उन्हें उनकी ग्राहक सेवाओं या छूट या लाभ आदि तक पहुंच प्रदान करने से पहले प्रमाणित करने के लिए किया जा सकता है।

यह आधार प्रमाणीकरण बैंकों, एनबीएफसी और किसी भी अन्य वित्तीय सेवाओं में केवाईसी प्रक्रिया को शीघ्रता से पूरा करने के लिए एक प्रमुख भूमिका निभा रही है।

ये भी पढ़ें:

Aadhaar Face Authentication (आधार फेस ऑथेंटिकेशन) क्या है?

यूआईडीएआई (भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण) एक नई सुविधा के साथ आधार कार्डधारकों लिए एक नई सुविधा लेकर आया है। यह नई सुविधा फेस ऑथेंटिकेशन नामक नई तकनीक के साथ आती है।

आधार कार्डधारक यूआईडीएआई अधिकारी के माध्यम से अपना आधार कार्ड ऑनलाइन डाउनलोड कर सकते हैं। वेबसाइट, वे बिना ओटीपी प्रक्रिया के चेहरे के प्रमाणीकरण द्वारा आधार कार्ड की अपनी प्रति डाउनलोड कर सकते हैं।

इस फेस ऑथेंटिकेशन फीचर का लाभ उठाने के लिए सबसे पहले आपको किसी भी आधार एनरोलमेंट सेंटर में आधार कार्ड को एनरोल करना होगा। आधार कार्डधारक यूआईडीएआई की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएंगे और अपना 12 अंकों का आधार नंबर दर्ज करेंगे और अपना चेहरा दिखाएंगे और उनका आधार कार्ड अपलोड हो जाएगा।

यह सुविधा यूआईडीएआई के आधार कार्ड की तरह अनूठी है और इससे आम आधार कार्डधारकों को और फायदा होगा। ई-आधार कार्ड डाउनलोड करने से पहले यह जानना जरूरी है।

आप इस कॉपी को मूल आधार कार्ड के रूप में ही उपयोग कर सकते हैं, यानी एक इलेक्ट्रॉनिक कॉपी जिसे आप अपने इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों जैसे मोबाइल और कंप्यूटर में स्टोर कर सकते हैं।

ई आधार को पीडीएफ प्रारूप में डाउनलोड किया जा सकता है जिसे आप जब चाहें प्रिंट कर सकते हैं। फिजिकल आधार के रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकता है। ई आधार कार्ड को पूरे भारत में मान्यता प्राप्त है।

Aadhaar Authentication History में किस तरह का डाटा होता है?

जब भी आप किसी सेवा का लाभ उठाने के लिए आधार का उपयोग करते हैं, तो यूआईडीएआई अपने डेटाबेस में लेनदेन को पंजीकृत करता है। आधार के डेटाबेस में कोई डेमोग्राफिक या बायोमेट्रिक डेटा संग्रहीत नहीं है। केवल कुछ लेन-देन विवरण सहेजे जाते हैं, जैसे:

  • Type of transaction (demographic, biometric or OTP-based),
  • Date and time of transaction,
  • Authentication organisation (UIDAI, EPFO, ITD, NIC, CDAC, etc.),
  • UIDAI response code,
  • Unique Aadhaar Transaction ID
  • Authentication Response (Success or Failure) and
  • UIDAI Error Code, if any

फेस ऑथेंटिकेशन के माध्यम से ई-आधार कार्ड डाउनलोड

  • सबसे पहले, यूआईडीएआई (भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण) की वेबसाइट पर जाएं।
  • आप यूआईडीएआई की वेबसाइट पर जाएंगे और आपको मेन्यू में गेट आधार का विकल्प दिखाई देगा।
  • यहां आपको अपना 12 अंकों का आधार कार्ड नंबर या वर्चुअल आईडी कार्ड नंबर या रजिस्ट्रेशन आईडी नंबर दर्ज करना होगा।
  • फिलहाल आपको तीन विकल्प दिखाई देंगे जैसे OTP/TOTP/FACE AUTH।
  • आपको कैप्चा कोड भरना होगा और FACE AUTH विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अगर आप इस प्रक्रिया को अपने मोबाइल पर करते हैं तो फेस ऑथ पर क्लिक करने से आपका फ्रंट कैमरा काम करना शुरू कर देगा। इसी तरह अगर आप यह पूरी प्रक्रिया अपने लैपटॉप के जरिए करते हैं तो लैपटॉप कैमरा काम करना शुरू कर देगा और अगर आप यह प्रक्रिया डेस्कटॉप के जरिए कर रहे हैं, आपको वेबकैम का उपयोग करना होगा।
  • जब कैमरा काम करना शुरू करता है, तो उसे कैमरे के सामने अपना चेहरा दिखाना होगा और इसे कैप्चर करने में सक्षम होने के लिए कुछ समय के लिए चेहरे को स्थिर रखना होगा।
  • जैसे ही आपका चेहरा कैप्चर होता है, आपके सामने एक सर्वे फॉर्म खुल जाता है, इस सर्वे फॉर्म में आपको दो छोटे-छोटे सवालों के जवाब देने होते हैं।
  • आप सर्वे फॉर्म भरें और डाउनलोड बटन पर क्लिक करें, आपका आधार मैप डाउनलोड हो गया है, वो भी आपके चेहरे से।
  • यदि आप FACE Auth विकल्प का उपयोग करते हैं, तो आपके पंजीकृत मोबाइल नंबर पर किसी OTP प्रकार का अनुरोध नहीं किया जाता है, यानी एक अपंजीकृत मोबाइल नंबर जिसे आप चेहरे के प्रमाणीकरण के माध्यम से आधार कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं।

नोट:- यूआईडीएआई मौके पर ही आपकी लाइव इमेज कैप्चर कर लेगा। इसलिए आपको अपने मोबाइल या लैपटॉप के लिए एक अच्छे कैमरे की आवश्यकता है।

Aadhaar Authentication History Online कैसे चेक करें

Apne aadhar ki Authentication ki History check karne ke liye, In steps ko follow karein.

  • UIDAI के Aadhar Authentication History Page पर जाएँ।
  • अब अपना आधार नंबर दर्ज करें।
  • इसके बाद कैप्चा कोड दर्ज करें। “Generate OTP” पर क्लिक करें।
  • Generate OTP पर क्लिक करते ही आपके फ़ोन पर One Time Password (OTP) आएगा।
  • अब एक नया पेज ओपन होगा।
Aadhar-Authentication-Ki-History-Kaise-Check-Karein
  • इस पेज पर आपको Authentication Type, Date Range को सेलेक्ट करना है।
  • Number of Records दर्ज करें। आप maximum 50 records तक देख पाएंगे।
  • इसके बाद फ़ोन पर जो otp आएगा वो दर्ज करें।
  • अब सबमिट पर क्लिक करें।
  • अब आप Aadhaar Authentication History देख पाएंगे।
  • यहाँ date, Time और किस प्रकार से ऑथेंटिकेशन हुआ है, वो जानकारी मिल जायेगी।
Check-Aadhar-Authentication

यहाँ आप ये नहीं जान पाएंगे की किस कंपनी या एजेंसी ने aadhar authentication data का प्रयोग किया है।

तो इस तरह से आप घर बैठे ऑनलाइन Aadhaar Authentication History चेक कर सकते हैं।

Similar Posts

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.